avatar
Rekhaa

आप खुद ही बेस्ट हैं

इंसान के जीवन मैं समय अत्यंत महत्वपूर्ण हैं | यह एक समय ही हैं जो रेत की तरह हमारे हाथों से फिसल जाता हैं और लौट कर फिर कभी नहीं आता | इसीलिए हमें अपने वक्त का सही उपयोग करना सीख लेना चाहिए | जहाँ एक तरफ वक्त हैं वही दूसरी ओर हमारी सोच | इन दोनों का हमें बहुत ध्यान से उपयोग करना चाहिए | ज़िंदगी की गति का मूल यह दो अंश ही निर्धारित करती हैं |

हर एक इंसान अपने ज़िंदगी और उसके कर्तव्यों का पालन करने मे स्वयं ही उत्तम पात्र हैं | लेकिन समस्या तब सामने आती है जब एक व्यक्ति किसी अन्य के साथ अपनी तुलना करना आरम्भ कर देता हैं | इस रास्ते पर चलकर इंसान ये सच भूल जाता है कि वो खुद ही बेस्ट हैं |

81raJduJvhL.__BG0,0,0,0_FMpng_AC_UL320_SR282,320_

अपनी तुलना दूसरों के साथ करते हुए इंसान अनजाने में अपने मार्ग से भटक जाता हैं और अपने अंदर धीरे-धीरे क्रोध, अहंकार, असत्यता, लोभ, स्वार्थ, छल, और कपट को अपना लेता हैं | लेकिन इंसान के जन्म का मूल उद्धेश्य ये होता है कि वो कभी भी अपने अस्तित्व को न छोड़े जो कि 'स्वच्छता' हैं | और जितने जल्दी हम इन सारे दुर्गुणों का पीछा छुड़वा कर अपने आपे में आ जाते हैं, उतनी ही जल्दी आप ये बात समझ जायेंगे कि "आप खुद ही बेस्ट हैं"|

ठीक ऐसा ही हैं हमारा सोच - विचार भी | कभी न कभी हमें ये निर्णय लेना ही होगा कि किस विचार और सोच को हमें आगे ले जाना चाहिए ओर किस विचार को निकाल फेंकना चाहिए | ये निर्णय जितनी जल्दी हम ले लेते हैं उतना ही हम अपने साथ खुश रह पाएंगे |

प्रतिशोध की भावना, कड़वी यादें, चिंता और नकारात्मक विचारों को हटाकर सकारात्मक विचार और ऊर्जा को अपने अंदर स्थापित करना हैं | परिस्थितियाँ जितनी भी कठिन हो, हमेशा हमें अपने भविष्य में आशा रखनी चाहिए |

क्या पता वह आशा का एक बूंद कब हमारी ज़िंदगी बदल दे |
photo-1518731429075-f91c8025641e

दिन हो या रात, कभी भी आप थोड़ा सा अपना वक्त निकाल कर कुछ अच्छे पुस्तक पड लिया करें | जो हमें केवल ज्ञान ही नहीं बल्कि हमारे कल के लिए हमें तैयार भी रखती हैं |

तो प्रस्तुत हैं आपके समक्ष एक ऐसा ही श्रेष्ठ किताब "आप खुद ही बेस्ट हैं " , अनुपम खेर की कलम से |

पढ़िए आपके मन चाहे हिंदी पुस्तकों को केवल मोजोरीडस पे |

avatar
Kishore
Apr 15, 4:23 AM
बहुत अच्छी तरह से बताया